त्रिवेणी संगम

श्योपुर से 40 किलोमीटर दूर सीप ,चम्बल व बनास नदियों का यह पावन संगम जन जन की आस्था का केंद्र है संगम के इस पार मध्य प्रदेश की सीमा पर स्थित लक्ष्मीनाथ व रामेश्वर महादेव का मंदिर दर्शनीय है |यहाँ सिंधिया शासको द्वारा बनाया गया डाक बंगला भी स्थित है | 12 फरबरी 1948 को राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी का अस्थि कलश भी यहाँ विशार्जित किया गया जो इसके महत्व को रेखांकित करता है