श्योपुर फोर्ट

सीप एवं कलवाल नदी के संगम पर बना यह किला प्रस्तर शिल्प का बेजोड़ नमूना है पुरातत्व संग्रहालय हेतु यहाँ 425 बेसकीमती मूर्तियों का भी संग्रह किया गया है| यहा स्थित गूजरी महल नरसिंह महल, दरबार होल, राजा  इन्द्र सिंह व राजा किशोरदास की छतरीया दर्शनीय है | किले के कुछ भवन राज्य संरक्षित घोषित हे

फोटो गैलरी

  • श्योपुर किला
  • श्योपुर
  • श्योपुर किला

कैसे पहुंचें:

वायु मार्ग

निकटतम हवाई अड्डा जयपुर , मध्य प्रदेश (203 किमी) है, जिसमें दिल्ली और मुंबई के लिए दैनिक उड़ान सेवा है। कोई भी जयपुर से श्योपुर तक टैक्सी आसानी से प्राप्त कर सकता है.

ट्रेन द्वारा

निकटतम रेलवे स्टेशन सवाई माधोपुर (राजस्थान ) 65 किमी. की दूरी पर है । वहां से बस सेवा एवं टैक्सी सेवा आसानी से उपलब्ध हो सकती है.

सड़क मार्ग

श्योपुर सड़क मार्ग से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है, प्रतिदिन यहाँ से दिल्ली, ग्वालियर, भोपाल, इंदौर, कोटा, जयपुर के लिए बस सेवाएं उपलब्ध हैं.